आखिर कब बंद होगा ऎड एजेंसीज में धर्म का इस्तेमाल?

0
91

आखिर कब बंद होगा ऎड एजेंसीज में धर्म का इस्तेमाल?

हर कंपनी अपने अपने प्रोडक्ट्स बेचने के लिए नए नए तरकीबें निकालती है। इसमें कोई दिक्कत भी नहीं है मगर बार बार किसी के धर्म की आड़ में बेचना यह थोड़ा गलत हो जाता है।
धर्म इंसान की सबसे बड़ी कामयाबी भी है और कमजोरी भी।इसे ना छेड़ो वही अच्छा है। सस्ती पब्लिसिटी के लिए या यूं कहें टी. आर.पी के लिए धर्म का आड़ लेना कितना सही है?
हिंदुस्थान कंपनी के सर्फ एक्सेल प्रोडक्ट ने कुछ दिनों पहले एक ऐड बनाया है। जिसमे हिंदू संघटनो ने आक्षेप लिया है। हिंदू संघटनो का आरोप है कि इस ऎड के जरिये लव जिहाद का प्रचार हो रहा है। सोशल साइट्स पर हिंदुस्थान लिवर का पूर्ण रूप से बहिष्कार करने की अपील की जा रही है।

इस ऎड पर कई सवाल खड़े किए जा रहे हैं। यह भी कहा जा रहा है कि सदभावना का ठीकरा केवल हिन्दू समुदाय के सर पर ही क्यों फोड़ा जा रहा है ?

इस ऎड के विरुद्ध सभी हिन्दू संघटन एक मंच पर आए हैं और हिंदू जनजागृति समिति भी अब मैदान में कूद पड़ी है। हिंदु जनजागृति समिति ने लोगों से अपील की है की इस आंदोलन में बड़ी से बड़ी संख्या में आए ।इसलिए 10 मार्च 2019 दादर पूर्व रेल्वे स्टेशन के बाहर शाम 4.30 बजे दादर (मुंबई) में एक जनांदोलन रखा गया है।