औरंगजेब के अपमान पर मुंब्रा में राजनीति गरमा गई..

0
49

औरंगजेब के अपमान पर मुंब्रा में राजनीति गरमा गई,एम आय एम और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी आमने सामने..

कुछ दिनों पहले राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता आनंद परांजपे ने औरंगजेब पर एक बयान जारी किया था। इस बयान को लेकर एम आई एम कार्यकर्ताओं ने इस बयान बाजी के खिलाफ अपना विरोध व्यक्त किया। इस विरोध में उन्होंने आनंद परांजपे को एक माफीनामा जाहिर करने को कहा। इस विरोध में आज मुंब्रा में शाम 4 बजे विरोध प्रदर्शन रखा गया था।

दूसरी तरफ मुंब्रा शहर के सैकड़ों हिंदुत्ववादी कार्यकर्ताओं ने सरकार और केंद्र सरकार को निवेदन भेजा है की पूरे भारत में औरंगजेब, टीपू सुल्तान जैसे आक्रमणकारी मुगलों के नाम पर कहीं पर भी इनकी जयंती, रैली एवं विरोध प्रदर्शन के लिए अनुमति न दी जाए। ऐसे कार्यक्रमों से देश में सांप्रदायिक तनाव निर्माण हो सकता है और देश की अखंडता और एकता को खतरा निर्माण हो सकता है। धरना ,आंदोलन , अन्य कोई भी मुद्दे पर अवश्य हो जिससे देश मे सकारात्मक माहौल बने।हिंदुत्ववादी कार्यकर्ताओं का कहना है की भारत एक सेकुलर देश है और इस देश में हिंदू मुस्लिम सिख ईसाई सभी आपस में मिल जुल कर रहते हैं। इतिहास के पन्नों को पलटने से कुछ हासिल नहीं होगा बल्कि केवल देश में नफरत की राजनीति बढ़ेगी। देश में गरीबी, शिक्षा, स्वास्थ्य जैसे अनेक मुद्दे है जिन पर लोगों को ध्यान देना चाहिए। सांप्रदायिक मुद्दे को लेकर देश में केवल तनाव निर्माण होगा।

वीडियो देखने के लिए लिंक पर क्लिक करें