चाँद तारा वाले झंडे पर लगेगी रोक?

0

चाँद तारा वाले झंडे पर लगेगी रोक?

सुप्रीम कोर्ट में जनहीत याचिका दर्ज

अक्सर चाँद तारे वाले झंडे पर कई बार देश के अलग अलग हिस्सों में विवाद उठ चुका है। कई बार ऐसे झंडे को पाकिस्तानी झंडा समझकर हिन्दू समुदाय के लोगो में गलतफहमी हो चुकी है कई बार विवाद और हिंसा की भी वारदाते हो चुकी है ऐसा शिया वक़्फ़ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिज़वी का कहना है।

उनके मुताबिक चाँद और तारे वाले झंडे का इस्लाम से दूर दूर तक कोई लेना देना नहीं है। पैगम्बर मोहम्मद भी जब मक्का गए थे तो उनके हाथ में सफेद रंग का झंडा था। वसीम रिजवी का कहना है की 1906 से पहले ऐसा किसी भी प्रकार का झंडे का अस्तित्व बिल्कुल नहीं था। उनके याचिका में उनका मानना है की इस प्रकार के झंडे को लगाकर जानबूझकर कुछ समाज कंटक देश में माहौल बिगाड़ रहे हैं और ऐसे लोगों पर तुरंत कानूनी कार्यवाही करनी चाहिए।