चीन की कमर तोड़ने का प्लान तैयार?

0

चीन की कमर तोड़ने का प्लान तैयार, भारत बनने जा रहा है अगला मैन्युफैक्चरिंग हब

200 से ज्यादा यू .एस कंपनीज करेगी चीन से भारत की और रुख

200 यूएस कंपनीज ने अपना रुख चीन से भारत की तरफ़ कर दिया है। यह महत्वपूर्ण निर्णय भारत के अहम चुनावों के बाद लिया जाएगा।
यूएस इंडिया स्ट्रेटेजिक एंड पार्टनरशिप फोरम के अध्यक्ष मुकेश आघी ने बताया की वह लगातार उन कंपनियों के संपर्क में है और यूएस कंपनियों ने भी निवेश करने की इच्छा जाहिर की है।
मुकेश आघी ने आगे बताया की नई दिल्ली को अब इस विषय को लेकर गति और पारदर्शकता बढ़ा देनी चाहिए। इस निर्णय से भारत में रोजगार के नए अवसर प्राप्त होंगे। फॉर्मर असिस्टेंट यूएस ट्रेड रिप्रेजेन्टेटिव फ़ॉर साउथ एंड एशियन अफेयर के मार्क किंस्कोट का मानना है कि भारत को अब एक्सपोर्ट पर ध्यान देने की आवश्यकता है।फ्री ट्रेड अग्रीमेंट से भारत को काफी लाभ होंगे। अगर भारत में फ्री ट्रेड, पारदर्शकता और बैक अप स्ट्रेटेजी सही मायने में प्राप्त हो को निश्चित तौर पर भारत को मैन्युफैक्चरिंग हब बनने से कोई रोक नहीं सकता।