हिंदुओं पर होने वाली हिंसा के पिछे छिपा है यह मास्टर प्लान..

0
48

हिंदुओं पर होने वाली हिंसा के पिछे छिपा है यह मास्टर प्लान..

हर छोटी छोटी बातों पर हो रही हत्याएं

देश के कोने कोने में हिंदू हेट और हिंदू पर होने वाले हिंसक घटनाओं की खबरे लगातार सामने आ रही है। यह सभी घटनाएं अलग अलग स्वरूप में अलग अलग तरीके से हो रही है। कुछ हत्या छोटी मोटी बातों को लेकर हो रही है तो कुछ हत्याएं बच्चियों के रेप करने के बाद हो रही हैं। उदाहरण के तौर पर देखे तो ध्रुव त्यागी की हत्या छेड़खानी को लेकर हुई, विष्णु गोस्वामी की हत्या मामूली पानी पीने की बात पर हुई , जवान शंकर आव्हाड को पार्किंग के लिए मारा गया, लस्सी वाले यादव बंधु को पैसे मांगने पर मार डाला गया, भांडुप के क्रिकेट के कोच रमेश पवार को नशा रोकने की बात को लेकर हत्या की गई, डॉक्टर की बीवी को गलत इलाज के लिए मार डाला गया। ऐसी कई अनगिनत घटनाएं हुई है जिसपर शांतिप्रिय समुदाय के लोग गिरफ्तार है।कुछ हत्याएं संघ, विहिप एवं बीजेपी कार्यकर्ताओं की हो रही है। इन सभी हिंसक वारदातों में एक विशेष पैटर्न नजर आता है वह पैटर्न है हिंदू हेट और सभी वारदातों में एक ही सामान्य बात है कि आरोपी सभी शांतिप्रिय समुदाय से है।

हिंदू हेट की वारदातें वैसे कई सालों से ही प्रचलित थी। मगर तुल तब पकड़ लिया जब देश के हिंदुओं ने पहली बार हिंदू होकर वोट दिया। केवल वोट ही नहीं दिया बल्कि भाजपा सरकार को बहुमत से जीत भी दिलाई। हिंदू वोटरों का मोदी के प्रति आकर्षण से ही हिंदू हेट की वारदातों में तेजी से वृद्धि होने लगी। 2014 के लोकसभा चुनावों के बाद से हिंदू हेट की वारदाते और हिंसक होने लगी। भविष्य में भी यह हिंसक वारदातें और बढ़ने की आशंका जताई जा रही है।
हिंदुओं पर बढ़ते हिंसा के पीछे एक बहुत बड़ा मास्टर प्लान छिपा है। वह मास्टर प्लान है हिंदू वोटरों को मोदी सरकार के खिलाफ इस्तेमाल करना। जिन हिंदुओं ने मोदी सरकार को भारी मतों से जीत दिलाई वही हिंदू वोटर्स को सरकार गिराने में इस्तेमाल करने का यह मास्टर प्लान है। बढ़ती हिंसा से खुद हिंदू समाज मोदी को नाकारा घोषित कर उन्हें सत्ता से बेदखल कर देगी। मोदी सरकार का बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ की मुहिम का रिवर्स नरेटीव बनाने का एक छिपा षड्यंत्र है। भविष्य में हिंदू महिला लड़कियां और छोटी बच्चियों पर अन्याय की वारदातें और बढ़ेंगी और यही मुद्दा को लेकर मोदी सरकार को घेरा जाएगा।

बढ़ती हिंसा को लेकर देश में एक बहुत बड़ा तनावपूर्ण माहौल निर्माण किया जाएगा और इस तनाव से ही पूरे देश में दंगे फसाद होने की काफी संभावना खुद ब खुद बन जाएगी। इस मुद्दे को लेकर भी मोदी सरकार को घेरने का छिपा षड्यंत्र बनाए जाने की बात को नकारा नहीं जा सकता।