क्या है जरूरी भ्रष्टाचार मिटाना या मंदिर ?

0

क्या है जरूरी भ्रष्टाचार मिटाना या मंदिर ?

क्या है जरूरी भ्रष्टाचार मिटाना या मंदिर ?

18 फरवरी 2016 टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के अनुसार सीबीआई ने पुष्टि की है की 2015 में 2200 भ्रष्ट अधिकारियों की जांच की थी। एजेंसी का कहना है कि 2014 से 94% तेजी आ चुकी है।
सीबीआई डायरेक्टर अनिल सिन्हा ने कहा कि उन्होंने 2200 भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ जांच शुरू की है। जिसमें 101 एफ आई आर दर्ज हो चुकी है।
2015 में 101 मामले और 2014 में 52 मामले सामने आए हैं। सीबीआई डायरेक्टर अनिल सिन्हा का कहना है 1044 चार्जशीट केवल 2015 में बनाए गए थे। और पिछले 5 सालों में इसे बहुत बड़ी संख्या के रूप में देखा जा रहा है।
अनिल सिन्हा का कहना है जनता का मूड भ्रष्टाचार के खिलाफ है। अगर सीबीआई ने जनता का साथ नहीं दिया तो सीबीआई क्या करें ?
आपको बता दें कि केरल में शबरीमाला को लेकर पूरे राज्य में विवाद गहराता जा रहा है। वहीं सोशल मीडिया पर 2200 अधिकारियों की खबर को लेकर केरल सरकार पर आरोप तेज़ हो रहे है। लोगों का कहना है कि केरल सरकार को शबरीमाला विवाद से ज्यादा भ्रष्टाचार के मामलों पर लगाम कसने की आवश्यकता है।

स्रोत -16 फरवरी 2016 टाइम्स ऑफ इंडिया

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here