क्यों जरूरी है शादी , प्रसाद, पार्टियों के भोजन की पुलिस द्वारा जाँच …..

24
212

क्यों जरूरी है शादी , प्रसाद, पार्टियों के भोजन की पुलिस द्वारा जाँच …..

क्यों जरूरी है शादी , प्रसाद, पार्टियों के भोजन की पुलिस द्वारा जाँच …..

यह बात सुनने में काफी अजीब लगती होगी की आखिर खाना बनाने के लिए भी पुलिस परमिशन लेनी होगी ..?
अभी तक हमने सुना है कि रैली , जुलूस या कार्यक्रम करने के लिए या फिर लाउड स्पीकर लगाने के लिए पुुुलि स से अनुमति लेनी पड़ती है। मगर आज जो यहाँ हम बात करने वाले है कि क्यों जरूरी है शादी, पार्टियां एवं पूजा के प्रसाद बनाने के पुलिस लिए परमिशन ।

कई दिनों से अलग अलग राज्यों में अन्न में विषबाधा की खबर आई है। अन्न में विषबाधा से कई राज्यों में बच्चो सहित बड़े भी मारे जा रहे है। इन हादसों में अलग अलग आशंखाए बताई जा रही है। कोई इसे आतंकवाद का नया स्वरूप के रूप में बता रहे है तो कोई मौजूदा सरकार को बदनाम करने का षड्यंत्र । इसे आतंकवाद से इसलिए जोड़कर देखा जा रहा है क्योंकि कुछ दिनों पहले मुंब्रा शहर से कुछ आइसिस से जुड़े लोगों की गिरफ्तारी हुई जिसमें उन्होंने खाने में जहर मिलाने का प्लान के बारे में बाते उजागर की थी।

11 फरवरी 2019 अहमदाबाद शहर में 100 अस्पताल में भर्ती – टाइम्स ऑफ इंडिया

10 फरवरी 2019 झारखंड ,50 बच्चे अस्पताल में भर्ती – बिज़नेस स्टैण्डर्ड

7 फरवरी 2019 मदुरई ,19 बच्चे बीमार

15 जनवरी 2019 थिरुवनंतापुरम में 100 एम्प्लाइज हुए बीमार

26 जनवरी 2019 बंगलुरू में 11 लोग बीमार और एक औरत की मृत्यु

11 फरवरी 2019 अहमदाबाद शहर में 100 अस्पताल में भर्ती – टाइम्स ऑफ इंडिया

10 फरवरी 2019 झारखंड ,50 बच्चे अस्पताल में भर्ती – बिज़नेस स्टैण्डर्ड

7 फरवरी 2019 मदुरई ,19 बच्चे बीमार

15 जनवरी 2019 थिरुवनंतापुरम में 100 एम्प्लाइज हुए बीमार

26 जनवरी 2019 बंगलुरू में 11 लोग बीमार और एक औरत की मृत्यु -यूनाइटेड न्यूज़ ऑफ इंडिया

9 फरवरी 2019 शराब पिकर 90 लोग मारे गए – न्यूज़ 18

6 फरवरी 2019 मुंब्रा से संदिग्ध आरोपी जो प्रसाद में मिलाने जा रहे थे कुछ रसायन

यह सभी कारणों के वजह से अब कोई भी शादी , बर्थडे , पार्टियां, या प्रसाद बनाने से पहले उस खाने की टेस्टिंग लैब में पुलिस द्वारा होनी चाहिए। इस मोहिम से भविष्य में बड़े से बड़े हादसे टाले जा सकेंगे । सिर्फ इतने तक ही नही बल्कि बड़े बड़े पानी की टंकियों भी सीसीटीव से लैस होनी चाहिए। क्योंकि थोड़ी भी चूक से देेेश में बड़ा हादसा होने की संभावना जताई जा रही है।

उपाय – केंद्र सरकार को इस बात पर तुरंत हर राज्य के गृह विभागको अलर्ट जारी कर मीडिया में यह बात बता देनी चाहिए कि कोई भी सामूहिक भोजन जो लोगो मे बाटा जाएगा चाहे वह प्रसाद हो या शादी का भोजन।उसकी पुलिस द्वारा लैब टेस्टिंग करवाना अनिवार्य है।