मोदी के विदेश दौरे का परिणाम है क्रिस्चियन मिशेल प्रत्यर्पण – अहमद अल बन्ना

0

मोदी के विदेश दौरे का परिणाम है क्रिस्चियन मिशेल प्रत्यर्पण – यू.ए.ई दूत अहमद अल बन्ना

मोदी के विदेश दौरे का परिणाम है क्रिस्चियन मिशेल प्रत्यर्पण – यू. ए. ई दूत अहमद अल बन्ना

भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विदेशों में घूमने पर देशभर में विरोधियों ने कुछ साल पहले कई सवाल उठाए थे। कईयों ने तो उनके विदेश दौरों की खिल्ली भी उड़ाई थी। सत्य बात तो यह है की यह प्रत्यर्पण मोदी के विदेश दौरे विदेश नीति का हिस्सा माना जाता है।
यूएई के दूत ने क्रिश्चियन प्रत्यर्पण पर मोदी की तारीफ की है। यूएई एंबेसडर अहमद अल बन्ना ने यह बयान दिया की यह नई दिल्ली और आबू धाबी के करीबी संबंधों के कारण ही मुमकिन हुआ है।
उन्होंने इसका श्रेय है मोदी के विदेश नीति को दिया है। 26 जनवरी 2019 गल्फ न्यूज़ नामक न्यूज़ वेबसाइट पर भी छपा है कि भारत और यूएई के संबंध स्वर्ण युग के दौर से गुजर रहा है।
सोशल मीडिया पर फिलहाल क्रिस्चियन मिशेल प्रत्यर्पण के बाद मोदी के विदेश नीति सबसे कुशल मानी जा रही है और लोगो का मानना है कि 2019 के पी एम के असली दावेदार भी नरेंद्र मोदी ही है।