शिवसेना ने किया नागरिकता संशोधन विधेयक का विरोध ..

0
153

शिवसेना ने  किया नागरिकता संशोधन विधेयक का विरोध ..

बीजेपी की सहयोगी पार्टी शिवसेना ने नागरिकता संशोधन विधेयक पर असहमति जताते हुए अपना विरोध दर्ज कराया है।
असम गण परिषद ने नागरिकता संशोधन विधेयक को शिवसेना से विरोध करने की अपील की थी।इसे देखते हुए शिवसेना ने इस प्रस्तावित कानून का पुरजोर विरोध भी किया।

शिवसेना के साथ साथ कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस, माकपा और समाजवादी पार्टी ने भी विरोध दर्ज कराया है।
सभी विपक्षी पार्टियों का यह मानना है विधेयक से आसामी लोगों के सांस्कृतिक सामाजिक हम भाषा को कानून से काफी ठेस पहुंचेगी।

आपको बता दें कि केंद्र की मोदी सरकार यह विधेयक लाने का हेतु अफगानिस्तान, पाकिस्तान और बांग्लादेश में बसे हुए अल्पसंख्यक समुदायों को 11 साल की बजाएं 6 साल भारत में रहने पर नागरिकता देना है।

वहीं सोशल मीडिया में केंद्र सरकार की इस विधेयक का काफी स्वागत किया जा रहा है। जिस प्रकार रोहिंग्या मुसलमानों को अपने भारत देश में शरण देने के लिए देश के बॉलीवुड सितारों से लेकर सभी एनजीओ आगे आए थे ठीक उसी प्रकार अब अफगानिस्तान पाकिस्तान एवं बांग्लादेश के अल्पसंख्यक हिंदू ,बौद्ध, सिख ईसाई समुदायों के लिए पूरा भारत देश आगे आए ऐसी अपील सोशल मीडिया में की जा रही है ।
कई हिंदू संगठनों ने इस विधेयक की काफी प्रशंसा की और लोगों से अपील की है कि इस विधेयक पर केंद्र सरकार को अपना पूरा समर्थन दें।